Accidental PM पर इंदौर-जबलपुर में हंगामा, सुरक्षा के बीच चला शो

दि एक्सीडेंटल प्राइम म‍िन‍िस्टर शुक्रवार को रिलीज हो गई. लेकिन कांग्रेस और भाजपा के बीच संघर्ष के चलते कई शहरों में स्क्रीनिंग प्रभावित हुई. लुधि‍याना और कोलकाता में जहां फिल्म की स्क्रीनिंग रोकनी पड़ी, वहीं मध्य प्रदेश में पुलिस सुरक्षा के बीच शो चले.

 
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के सलाहकार संजय बारु द्वारा लिखी किताब पर बनाई गई फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ शुक्रवार को रिलीज हुई. इस फिल्म के रिलीज होने के दौरान इंदौर व जबलपुर में काफी हंगामा हुआ, वहीं ग्वालियर में भारी सुरक्षा के बीच फिल्म का प्रदर्शन हुआ. कोलकाता और लुध‍ियाना में भी मल्टीप्लेक्स में फिल्म की स्क्रीनिंग रोकनी पड़ी.
इंदौर में इस फिल्म को मल्हार मेगा मॉल में देखने बड़ी संख्या में भाजयुमों के कार्यकर्ता पहुंचे. जहां पुलिस और भाजयुमो कार्यकर्ताओं के बीच बहस हुई. आखिरकार कई कार्यकर्ताओं को फिल्म देखने जाने दिया गया. इसी तरह ग्वालियर में भी सुरक्षा के बीच फिल्म रिलीज हुई. इस फिल्म को देखने लोग पहुंचे. पुलिस बल की तैनाती की गई थी, ताकि किसी तरह का विवाद न हो. जबलपुर के समदड़िया मॉल में भी फिल्म प्रदर्शन को लेकर हंगामा हुआ.
इस फिल्म को लेकर जनसंपर्क मंत्री पी.सी. शर्मा ने संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि वास्तव में तो एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी हैं, जो अगले वर्ष 2019 में बाहर हो जाएंगे. मनमोहन सिंह को तो सांसदों ने प्रधानमंत्री के तौर पर चुना था.
कोलकाता में स्क्रीनिंग के 10 मिनट बाद शो रद्द
मध्य कोलकाता के चांदनी चौक इलाके के हिंद सिनेमा में कुछ दर्शकों ने बताया कि शो को पहले दिन स्क्रीनिंग के 10 मिनट बाद ही रद्द कर दिया गया. कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “सुरक्षा कारणों के चलते ‘दि एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ की दोपहर की स्क्रीनिंग रद्द कर दी गई, क्योंकि हॉल के बाहर एक समूह द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा था.”  उन्होंने यह नहीं बताया कि फिल्म का अगला शो दिखाया जाएगा या नहीं.