महाकाल मंदिर में कार्तिक प्रतिपदा से बदलेगा आरती का समय

उज्जैन। विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा (25 अक्टूबर) से तीन आरती का समय बदलेगा। भस्म व शयन आरती अपने निर्धारित समय पर होगी।

सर्दी के दिनों में राजाधिराज भगवान महाकाल गर्मजल से स्नान करेंगे। इसकी शुरुआत दीपावली से एक दिन पहले रूप चौदस से होगी। पं.महेश पुजारी ने बताया कार्तिक प्रतिपदा से सर्दी की शुरुआत मानी जाती है। इसलिए आरती के क्रम में बदलाव होता है।

गर्मी के दिनों में सुबह 7 बजे होने वाली आरती सर्दी में सुबह 7.30 बजे से होगी। सुबह 10 बजे होने वाली नैवेद्य आरती प्रतिपदा से सुबह 10.30 बजे से होगी। वहीं शाम को 7 बजे होने वाली संध्या आरती कार्तिक शाम 6.30 बजे से होगी। यह क्रम फाल्गुन पूर्णिमा तक चलेगा। सुबह 4 बजे होने वाली भस्मारती तथा रात्रि 10.30 बजे होने वाली शयन आरती अपने निर्धारित समय पर होगी।